रतन टाटा के जन्मदिन पर सीखिए और जानिये उनसे कुछ गायन की बाते

सफल भारतीय बिजनेसमैन  रतन टाटा सबसे प्रसिद्ध नामों में से एक है।रतन टाटा को साल 2008 में पद्म विभूषण और साल 2000 में पद्म भूषण अवॉर्ड मिला था। आज रतन टाटा का जन्मदिन (Ratan Tata Birthday) मनाया जा रहा है। वे 84 साल के हो गए हैं।


रतन टाटा को उनकी अध्यक्षता में टाटा समूह (Tata group)  40 गुना से अधिक और लाभ में 50 गुना से अधिक की वृद्धि हुई। रतन के मार्गदर्शन में, टाटा कंसलटेंसी सर्विसेस सार्वजनिक निगम बनी और टाटा मोटर्स न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध हुई। 1998 में टाटा मोटर्स ने उनके संकल्पित टाटा इंडिका को बाजार में उतारा. रतन टाटा का सपना था कि 1,00,000 रु की लागत की कार बनायी जाए। 

नई दिल्ली में ऑटो एक्सपो में 10 जनवरी, २००८ को इस कार का उदघाटन कर के उन्होंने अपने सपने को पूर्ण किया। टाटा नैनो के तीन मॉडलों की घोषणा की गई और रतन टाटा ने सिर्फ 1 लाख रूपये की कीमत की कार बाजार को देने का वादा पूरा किया, साथ ही इस कीमत पर कार उपल्बध कराने के अपने वादे का हवाला देते हुये कहा "वादा एक वादा है"

26 मार्च २००८ को रतन टाटा के अधीन टाटा मोटर्स ने फोर्ड मोटर कम्पनी से जगुआर और लैण्ड रोवर को खरीद लिया। ब्रिटिश विलासिता की प्रतीक, जगुआर और लैंड रोवर (Land Rover) 1.15 अरब पाउण्ड ($ 2.3 अरब), में खरीदी गई।


भारत के ५०वे गणतंत्र दिवस समारोह पर २६ जनवरी २०००, रतन टाटा को तीसरे नागरिक अलंकरण पद्म भूषण से सम्मानित किया गया। उन्हें २६ जनवरी २००८ भारत के दुसरे सर्वोच्च नागरिक अलंकरण पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया। वे नैसकॉम ग्लोबल लीडरशिप (NASSCOM Global Leadership) पुरस्कार -२००८ प्राप्त करने वालों में से एक थे। ये पुरस्कार उन्हें १४ फ़रवरी २००८ को मुम्बई में एक समारोह में दिया गया। रतन टाटा ने २००७ में टाटा परिवार की ओर से परोपकार का कारनैगी पदक प्राप्त किया।


उन्हें हाल ही में लन्दन स्कूल ऑफ़ इकॉनॉमिक्स (London School of Economics) से मानद डॉक्टरेट की उपाधि हासिल हुई और नवम्बर 2007 में फॉर्च्यून पत्रिका ने उन्हें व्यापर क्षेत्र के २५ सबसे प्रभावशाली लोगों की सूची में शामिल किया। मई 2008 में टाटा को टाइम पत्रिका की 2008 की विश्व के 100 सबसे प्रभावशाली लोगों की सूची में शामिल किया गया 

रतन टाटा को सन २००० में भारत सरकार ने उद्योग एवं व्यापार क्षेत्र में पद्म भूषण से सम्मानित किया था। 

रतन टाटा के जन्मदिन पर हम आपको उनकी कही हुई कुछ ऐसी बातें (Motivational Quotes by Ratan Tata) बताने जा रहे हैं, जिनके माध्यम से आपको सफलता प्राप्त होगी (Ratan Tata Quotes)

  • सफलता बहुत मेहनत, लगन और आत्मविश्वास से प्राप्त की जाती है।
  • मैं सही निर्णय लेने में विश्वास नहीं करता। मैं निर्णय लेता हूं और फिर उन्हें सही बनाता हूं।
  • ऐसी कई चीजें हैं जो अगर मुझे दोबारा जीने के मौका मिले तो शायद मैं अलग ढंग से करूंगा। लेकिन मैं पीछे मुड़कर यह नहीं देखना चाहूंगा कि मैं क्या नहीं कर पाया।
  • जो पत्थर लोग तुम पर फेंकते हैं, उनका इस्तेमाल स्मारक बनाने में करो।
  • अगर आप तेजी से चलना चाहते हैं तो अकेले चलिए, लेकिन अगर दूर तक चलना चाहते हैं तो साथ मिलकर चलिए।
  • वो इंसान जो दूसरों की नकल करता है, थोड़े टाइम के लिए सफल हो सकता है। लेकिन जीवन में बहुत आगे नहीं बढ़ सकता।
  • लोहे को कोई नष्ट नहीं कर सकता। उसका अपना ही जंग उसे नष्ट कर सकता है। इसी तरह, कोई भी व्यक्ति को नष्ट नहीं कर सकता, लेकिन उसकी अपनी मानसिकता कर सकती है।
  • जीवन में आगे बढ़ने के लिए उतर-चढ़ाव जरूरी हैं, क्योंकि ईसीजी में भी एक सीधी लाइन का मतलब होता है कि हम जिंदा नहीं हैं।
  • रतन टाटा सिर्फ उद्योग जगत में अपनी सफलता के लिए नहीं, बल्कि अपने व्यक्तित्व के लिए भी जाने जाते हैं। वे साल 1991 से लेकर 2012 तक टाटा ग्रुप के अध्यक्ष रहे। उनकी अगुवाई में टाटा ग्रुप ने कई बड़ी उपलब्धियां हासिल की।